✍️UPSC IAS/IPS-2020 General Studies Mains Paper-2 (GSM2) Polity, Constitution, Governance, International Relation (IR) conducted on Jan-09-2021

SubscribeQuestion-Papers4 Comments

Unacademy Plus Mrunal Economy for Prelims and Mains UPSC!
  1. ⚖️Polity & Constitution (125 marks)
  2. 🤰Governance, Welfare, Policies & Schemes (75 marks)
  3. 🌐International Relations & Institutions (50 marks)
  4. 👋Epilogue

⚖️Polity & Constitution (125 marks)

  1. “There is a need for simplification of procedure for disqualification of persons found guilty of corrupt practices under the Representation of Peoples Act”. Comment. (“लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के अंतर्गत भ्रष्ट आचरण के दोषी व्यक्तिओं को आयोग ठहराने की प्रक्रिया के सरलीकरण की आवश्यकता है” l टिप्पणी कीजिएl)(10m, 150words)
  2. “Recent amendments to the Right to Information Act will have profound impact on the autonomy and independence of the Information Commission”. Discuss. (“सुचना का अधिकार अधिनियम में किये गए हालिया संशोधन सुचना आयोग की स्वायतता और स्वतंत्रता पर गंभीर प्रभाव डालेंगे” l विवेचना कीजिएl)(10m, 150words)
  3. How far do you think cooperation, competition and confrontation have shaped the nature of federation in India? Cite some recent examples to validate your answer. (आपके विचार में सहयोग, स्पर्धा एवं संगर्ष ने किस प्रकार से भारत में महासंघ को किस सीमा तक आकर दिया है? अपने उत्तर को प्रमाणित करने के लिए कुछ हालिया उद्धत कीजिएl)(10m, 150words)
  4. The judicial systems in India and UK seem to be converging as well as diverging in recent times. Highlight the key points of convergence and divergence between the two nations in terms of their judicial practices. (हाल के समय में भारत और यु. के. की न्यायिक व्यवस्थाएं अभिसरणीय एवं अपसरणीय होती प्रतीत हो रही है l दोनों राष्ट्रों की न्यायिक कार्यप्रणालियों के आलोक में अभिसरण तथा अपसरण के मुख्या बिंदुओं को आलोकित कीजिएl)(10m, 150words)
  5. ‘Once a Speaker, Always a Speaker’! Do you think this practice should be adopted to impart objectivity to the office of the Speaker of Lok Sabha? What could be its implications for the robust functioning of parliamentary business in India? (‘एकदा स्पीकर, सदैव स्पीकर’! क्या आपके विचार अध्यक्ष पद की निष्पक्षता के लिए इस कार्यप्रणाली को स्वीकारना चाहिए? भारत में संसदीय प्रयोजन की सुदृढ़ कार्यशैली के लिए इसके क्या परिणाम हो सकते हैं?)(10m, 150words)
  6. Indian Constitution exhibits centralising tendencies to maintain unity and integrity of the nation. Elucidate in the perspective of the Epidemic Diseases Act, 1897; The Disaster Management Act, 2005 and recently passed Farm Acts. (राष्ट्र की एकता और अखण्डता बनाये रखने के लिये भारतीय संविधान केन्द्रीयकरण करने की प्रवृति प्रदर्शित करता है l महामारी अधिनियम, 1897; आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 तथा हाल में पारित किये गए कृषि क्षेत्र के अधिनियमों के परिप्रेक्ष्य में सुस्पष्ट कीजिएl)(15m, 250words)
  7. Judicial Legislation is antithetical to the doctrine of separation of powers as envisaged in the Indian Constitution. In this context justify the filing of large number of public interest petitions praying for issuing guidelines to executive authorities. (न्यायिक विधायन, बहरतीय संविधान में परिकल्पित शक्ति पृथक्करण सिद्धांत का प्रतिपक्षी है l इस संदर्भ में कार्यपालक अधिकरणों को दिशा-निर्देश देने की प्रार्थना करने सम्बन्धी, बड़ी संख्या में दायर होने वाली, लोक हित याचिकाओं का न्याय औचित्य सिद्ध कीजियेl)(15m, 250words)
  8. The strength and sustenance of local institutions in India has shifted from their formative phase of ‘Functions, Functionaries and Funds’ to the contemporary stage of ‘Functionality’. Highlight the critical challenges faced by local institutions in terms of their functionality in recent times. (‘भारत में स्थानीय निकायों की सुदृढ़ता एवं संपोषिता ‘प्रकार्य, कार्यकर्ता व कोष’ की अपनी रचनात्मक प्रावस्था से ‘ प्रकार्यात्मकता’ की समकालिक अवस्था की ओर स्थानान्तरित हुई है l हाल के समय में प्रकार्यात्मकता की दृष्टी से स्थानीय निकायों द्वारा सामना की जा रही अहम् चुनौतियों को आलोकित कीजिएl)(15m, 250words)
  9. Rajya Sabha has been transformed from a ‘useless stepney tyre’ to the most useful supporting organ in past few decades. Highlight the factors as well as the areas in which this transformation could be visible. (विगत कुछ दशकों में राज्य सभा एक ‘उपयोगहीन स्टैपनी टायर’ से सर्वाधिक उपयोगी सहायक अंग में रूपांतरित हुआ है l उन कारकों तथा कसेहतरों को आलोकित कीजिए जहाँ यह रूपांतरण दृष्टिगत हो सकता हैl)(15m, 250words)
  10. Which steps are required for constitutionalization of a Commission? Do you think imparting constitutionality to the National Commission for Women would ensure greater gender justice and empowerment in India? Give reasons. (एक आयोग के सांविधानिकीकरण के लिए कौन-कौन से चरण आवश्यक हैं? क्या आपके विचार में राष्ट्रीय महिला आयोग का सांविधानिकता प्रदान करना भारत में लैंगिक न्याय एवं सशक्तिकरण और अधिक सुनिश्चित करेगा? कारन बताइएl)(15m, 250words)

🤰Governance, Welfare, Policies & Schemes (75 marks)

  1. In order to enhance the prospects of social development, sound and adequate health care policies are needed particularly in the fields of geriatric and maternal health care. Discuss. (सामजिक विकास की संभावनाओं को बढ़ने के क्रम में, विशेषकर जराचिकित्सा एवं मातृ स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में सुदृढ़ और पर्याप्त स्वास्थ्य देखभाल सम्बन्धी नीतियों की आवश्यकता है l विवेचन कीजिएl)(10m, 150words)
  2. “Institutional quality is a crucial driver of economic performance”. In this context suggest reforms in Civil Service for strengthening democracy. (“आर्थिक प्रदर्शन के लिए संस्थागत गुणवत्ता एक निर्णायक चालक है” l इस संदर्भ में लोकतंत्र को सुदृढ़ करने के लिए सिविल सेवा में सुधारों के सुझाव दीजिएl)(10m, 150words)
  3. “The emergence of Fourth Industrial Revolution (Digital Revolution) has initiated e-Governance as an integral part of government”. Discuss. (” चौथी औद्योगिक क्रांति (डिजिटल क्रांति) के प्रादुर्भाव ने ई-गवर्नन्स को सरकार का अविभाज्य अंग बनाने में पहल की है” l विवेचन कीजिएl) (उत्तर 150 शब्दों में दीजिये)(10m, 150words)
  4. “The incidence and intensity of poverty are more important in determining poverty based on income alone”. In this context analyse the latest United Nations Multidimensional Poverty Index Report. (“केवल आय पर आधारित गरीबी के निर्धारण में गरीबी का आपतन और तीव्रता अधिक महत्वपूर्ण है” l इस सन्दर्भ में संयुक्त राष्ट्र बहुआयामी गरीबी सूचकांक की नवीनतम रिपोर्ट का विश्लेषण कीजिए l )(15m, 250words)
  5. “Micro-Finance as an anti-poverty vaccine, is aimed at asset creation and income security of the rural poor in India”. Evaluate the role of Self Help Groups in achieving the twin objectives along with empowering women in rural India. (“सूक्ष्म-वित्त एक गरीबी-रोधी टिका है जो भारत में ग्रामीण दरिद्र की परिसंपत्ति निर्माण और आयसुरक्षा के लिए लक्षित है” l स्वयं सहायता समूहों की भूमिका का मूल्यांकन ग्रामीण भारत में महिलाओं के सशक्तिकरण के साथ साथ उपरोक्त दोहरे उद्देश्यों के लिए कीजिए l )(15m, 250words)
  6. 👨‍🏫National Education Policy 2020 is in conformity with the Sustainable Development Goal-4 (2030). It intends to restructure and reorient education system in India. Critically examine the statement. (राष्ट्रीय शिक्षा निति 2020 धारणीय विकास लक्ष्य-4 (२०3०) के साथ अनुरूपता में है l उसका ध्येय भारत में शिक्षा प्रणाली की पुनःसंरचना और पुनःस्थापना है l इस कथन का समालोचनात्मक निरिक्षण कीजिए l )(15m, 250words)

🌐International Relations & Institutions (50 marks)

  1. Critically examine the role of WHO in providing global health security during the Covid-19 pandemic. (कोविड-19 महामारी के दौरान स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लू.एच.औ) की भूमिका का समलोचनात्मक परिक्षण कीजिएl) (उत्तर 150 शब्दों में दीजिये)(10m, 150words)
  2. ‘Indian diaspora has a decisive role to play in the politics and economy of America and European Countries’. Comment with examples. (‘अमेरिका एवं यूरोपीय देशों की राजनीती और अर्थव्यवस्था में बहरतीय प्रवासियों को एक निर्णायक भूमिका निभानी है” l उदाहरणों सहित टिप्पणी कीजिएl) (उत्तर 150 शब्दों में दीजिये)(10m, 150words)
  3. ‘Quadrilateral Security Dialogue (Quad)’ is transforming itself into a trade bloc from a military alliance, in present times – Discuss. (‘चतुर्भुजीय सुरक्षा संवाद (क्वाड)’ वर्तमान समय में स्वयं को सैनिक गठबंधन से एक व्यापारिक गट में रूपात्नरित कर रहा है – विवेचना कीजिए l )(15m, 250words)
  4. What is the significance of Indo-US defence deals over Indo-Russian defence deals? Discuss with reference to stability in the Indo-Pacific region. (भारत-रूस रक्षा समझौतों की तुलना में भारत-अमेरिका रक्षा समझौतोंकी क्या महत्ता है ? हिन्द-प्रशान्त महासागरीय क्षेत्र में स्थायित्व के संदर्भ में विवेचना कीजिए l )(15m, 250words)

👋Epilogue

For the model answers to above questions, topic wise analysis and th e strategy for next year’s UPSC Mains exam stay tuned to https://Mrunal.org/mains

Indian History Freedom Struggle Pratik Nayak

4 Comments on “✍️UPSC IAS/IPS-2020 General Studies Mains Paper-2 (GSM2) Polity, Constitution, Governance, International Relation (IR) conducted on Jan-09-2021”

  1. Thanks sir

    1. gsm2 governance notes for upsc

  2. Sir please analyse this GS 2 paper also.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *