Mrunal’s Daily Current Affairs:UPSC-May-29-2021: Bal Swaraj Portal, Blended Learning, AI-Dangers & More

MrunalCurrent AffairsLeave a Comment

click me to join Mrunal's new course on economy

Mrunal’s Official Telegram Channel?

https://t.me/mrunalorg= Get notified whenever new daily current affairs posted! Join My official Telegram Channel. If above link not opening in desktop PC browser then Alternatively search “mrunalorg” within Telegram Mobile App.

Polity⚖️

  • National Commission for Protection of Child Rights (NCPCR) Bal Swaraj portal for children in need of care and protection. And it is also used for helping children who lost both their parents in Corona. Supreme Court ordered district authorities to immediately take charge of the childrens orphans by Corona. Union and state governments have also come up with schemes/ packages to have such orphans। राष्ट्रीय बाल अधिकार सुरक्षा आयोग द्वारा ज़रूरतमंद संकट ग्रस्त बच्चों की मदद के लिए बाल स्वराज वेबसाइट बनायी गई है। इसी वेबसाइट में कोरोना में यतीम/अनाथ की भी मदद की जाएगी। सर्वोच्च न्यायालय ने भी जिला प्रशासन को आदेश दिया है कि ऐसी अनाथ बच्चों को मदद की जाए केंद्र और राज्य सरकार भी इसके लिए अलग अलग योजना लेकर आ रही है
  • Refugee/Alien rights- Rajasthan state government informed the High Court ke 25,000 Pakistani minority migrants are at present residing in Rajasthan. RAJASTHAN High Court directed the state government to ensure that ration and food is available to them. And even if they do not have identity cards prescribed by the union government they should be given Corona vaccination। राजस्थान ने 25 हज़ार पाकिस्तानी लोग स्थित है। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिया है कि उन्हें भी भोजन राशन वैक्सीन मुहैया कि जाय।
  • Secularism- previously Kerala state government’s student scholarship scheme distributed the scholarship budget money in 80:20 between Muslims and Christians, even without conducting any population surveys to identify their social economic status. Kerala High Court observed this “scholarship distribution quota” is unconstitutional. Every minority community has equal right to get the scholarship money. All the notified minority communities must be treated equally. केरल राज्य सरकार की छात्रवृत्ति बजट की कुल रक़म को मुसलमान और ईसाइयों में ८०-२० के अनुपात में राज्य सरकार बाँट रही थी। केरला हाईकोर्ट ने इसे असंवैधानिक बताया है, सभी अल्पसंख्यकों को एक समान रूप से छात्रवृत्ति मिलनी चाहिए, यहाँ पर कोई आंतरिक कोटा नहीं होना चाहिए
  • Comparing Constitution- If Nepal Madhesi woman marries a foreign husband (usually Indian man across the border because of the kinship, cultural business ties) , then their children is denied the citizenship of Nepal. Later on to win the votebank of Madhesi community, ex-PM KP Oli removed this provision. But now again there are talks of undoing it, to win some other vote bank / to pressurize the Madhesi leaders to support him etc. Anyways what exactly is their stand at present is not important, the point to consider is- both in Nepal and Myanmar, women marrying foreigners= them or their children are denied political/civil/citizenship rights. E.g. Suu Ki prohibited from becoming the president of Myanmar because her husband and children are foreign citizens show the Constitution of Myanmar prohibits. The Constitution of India is much more liberal in this regard. / 75 years of independence Essay. यदि नेपाल के मधेशी समुदाय की महिला किसी विदेशी पुरुष से शादी करें तो उसके बच्चों को नेपाल की नागरिकता नहीं दी जाती थी. किंतु बाद में भूतपूर्व प्रधानमंत्री KP ओली ने संविधान में संशोधन कर इस प्रावधान को रद्द करवाया हालाँकि अब उनकी सरकार गिर गई है तो वापस चुनाव जीतने के लिए/ मधेशी समर्थकों को दबाने के लिए ये प्रावधान वापस लाएंगे /नहीं लाएंगे ऐसी सब राजनीति चल रही है. म्यांमार में भी आंग सांग सू की को राष्ट्रपति इसलिए नहीं बनने दिया क्योंकि उनके संविधान के हिसाब से विदेशी व्यक्ति से शादी करने पर आप राष्ट्रपति नहीं बन सकते. इन सब मामलों में भारतीय संविधान ज़्यादा उदार मत वाली है इसलिए आज़ादी के 75 सालों पर हमें गर्व होना चाहिए – परीक्षा में लिखने के लिए.
  • ⚾️?⚾️?✋West Bengal- Mamata skips PM cyclone meeting because West Bengal Leader of opposition Suvendu Adhikari was also invited. Union government orders the chief secretary of West Bengal to serve in the union government. Narada case TMC leaders arrested released on bail ball by ball commentary. इनकी रोज़ की तू तू मैं मैं परीक्षा के लिए काम की नहीं.
  • ⚾️?⚾️?✋ TARUN Tejpal, Tehelka magazine’s boss, acquitted in a rape case. Judge made some observations abt character of the woman. Indianexpress running daily commentary on it.

Economy?

  • Currency swap agreement = usually signed between two countries to provide each other dollars$$ from their forex reserve in the times of need / balance of payment crisis. Borrower country will later on the repair dollars with interest (in $, or any other currency as per the agreement). BANGLADESHI RBI (=unki central bank) has approved a $200-million currency swap facility to Sri Lankan RBI. 1) previously Sri Lankan government had requested India to sign such agreement but India did not sign it due to unhappiness over SriLanka cancelling India-Japan’s Colombo port project 2) call to Bangladesh itself is a least developed country (LDC) but now their economic power is rising, so, this may be the first time that Bangladesh has signed such agreement. मुद्रा अदला बदली समझौता जहाँ पर दो देश की केंद्रीय बैंक आपस में भुगतान संतुलन की समस्या में डॉलर मुहैया कराएगी जो कि सामने वाला देश है भविष्य में वापस भी लोटाएगा। बांग्लादेश और श्रीलंका ने ऐसा समझौता पारित किया है। इससे पहले श्रीलंका ने भारत से भी ऐसी मदद माँगी थी लेकिन क्योंकि श्रीलंका की सरकार ने भारत को कोलंबो बंदरगाह प्रोजेक्ट से बेदख़ल किया (क्योंकि उन्हें चीन की गोद में बैठना था/ मतदाताओं को राज़ी करना था) था इस नाराज़गी में भारत ने समझौता नहीं किया। अभी बांग्लादेश जो कि स्वयं एक अति पिछड़ा देश है लेकिन हाल के वर्षों में उनका अर्थतंत्र मज़बूत हो रहा है, तो उन्होंने श्रीलंका से मुद्रा अदला बदली समझौता किया है। यानी के बांग्लादेश “विश्वगुरु” बन रहा है।
  • GST Council usually meet every three months. But Corona= not done. 2020-Oct meeting, the next meeting in 2021-May. This 43rd meeting outcomes 1) Committee/ Group of ministers (GoM) formed to study the GST rates Corona vaccines, medical supplies etc 2) reduce the penalties on merchants for late-filling of GST documents/data. वस्तु एवं सेवाकर परिषद सामान्य रूप से तीन तीन महीने पर मिलती है किंतु कोरोना संक्रमण के चलते पिछले साल अक्टूबर के बाद सीधा इस साल मई के महीने में मिले. हालाँकि परिषद ने कोई बड़े निर्णय नहीं लिया गया किन्तु 1) मंत्रियों का एक समूह बनाया है जो वैक्सीन इत्यादि चीज़ों पर GST दरें कितनी लगायी जाए समीक्षा करेगा 2) GST के दस्तावेज़ देरी से जमा करने पर लगने वाले जुर्माने में कमी की गई
  • Fiscal prudence – previously Parliament had abolished the subsidy on food canteen. So member of Parliament will no longer get dirt-cheap Dosas etc. Now the Parliament secretariat has started vaccination facility for the family members of the MPs but with a condition that MP must pay Rs.850-1250. So, some MPs are unhappy. राजकोषीय मितव्ययता/ फ़िज़ूल खर्ची कम करना- संसद कार्यालय द्वारा कैंटीन सब्सिडी बंद की गई थी. अब संसद कार्यालय द्वारा सांसदों के परिवार वालों को भी टीकाकरण करवाया जाएगा किन्तु मुफ़्त में नहीं होगा, सांसद ने इसके लिए पैसे देने होंगे. तो कुछ नेता लोग नाराज़ है. असल में उन्हें भगवान का शुक्र मनाना चाहिए कि कम से कम पैसा देकर भी तो वेकसिन मिल रही है! वरना हम तो रोज़ COWIN App पे लगे है, कोई empty-slot ही नहि मिल रहा।
  • Data- Previously Uttarakhand government officially announced / bragged that on April-2021 Kumbh was attended by 49 lakh devotees. But afterwards reprimanded by Uttarakhand High Court because of the corona outbreak. So now state government revises the figures and says “only 15 lakh attended”. Similar accusations also made about the GDP data of India by international analysts that Indian GDP is overestimated or inflated. अप्रैल महीने में उत्तराखंड राज्य सरकार ने सीना ठोककर कहा था कि 49 लाख श्रद्धालुओं ने कुंभ मेले में हिस्सा लिया लेकिन जब हाइ कोर्ट ने संक्रमण के बारे में डांट लगायी, अब राज्य सरकार कह रही है नहीं गलती से mistake हो गया सिर्फ़ 15, लाख श्रद्धालु ही आए थे. इस प्रकार की घटनाओं से लोगों का विश्वास सरकारी आंकड़ों में कम होता है. भारत की GDP वृद्धि दर के बारे में भी अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ कुछ ऐसी ही आलोचना करते हैं कि वास्तविक आंकड़ों से बढ़ा चढ़ाकर GDP को दिखाया जाता है
  • Whether to conduct class 12 board exams or not? Uske 500 types of permutations combinations alternatives leke jo Indian express is putting columns every day- a sensible UPSC aspirant should know that our Prelim exam is postponed to Oct-2021 [in that case mains exam may be conducted in January 2022]. So whatever is the final development about class12 board exam will be known before that so no point in applying mind over this ball my ball commentary of pros/cons/debate. बारहवीं कक्षा की परीक्षा होनी चाहिए कि नहीं होनी चाहिए इस पर जो रोज़ कॉलम लिखे जा रहे हैं भाई अपनी UPSC परीक्षा आने से पहले ही उसका कोई न कोई निर्णय तो सरकार ले ही लेगी तो अभी जो इतनी सारी चर्चा हो रही है वो कुछ मायने नहीं रखता क्योंकि जो अंतिम निर्णय आए उसके बाद समीक्षा बेहतर होगी.

IR/Defense?

  • United Nations General Assembly president Volkan Bozkir (Turkish politician, 1 year term) said “Pakistan is duty-bound to raise the Kashmir issue in the UN more strongly.” Indian government has strongly opposed the statement ki Kashmir is integral part of India. Point to consider? Is Turkish President Erdogan shooting from his shoulder because of India’s friendship with Saudi Arabia? संयुक्त राष्ट्र सामान्य सभा के तुर्की अध्यक्ष वोलकन बोजकिर ने आपत्तिजनक बयान दिया कि “पाकिस्तान का कर्तव्य है कि वह कश्मीर का मुद्दा जोर शोर से संयुक्त राष्ट्र में उठाना चाहिए.” भारत सरकार ने इसका विरोध किया, कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है. पाकिस्तान का चूँ करने का भी कोई कर्तव्य बनता ही नहीं है. हालाँकि ज़्यादा ग़ौर करने वाली बात ये है की, भारत सऊदी अरब का अच्छा मित्र है इसलिए कही तुर्की राष्ट्रपति अर्डोगान इस दो कोड़ी के वोलकन बोजकिर के कंधे पे रख के खुद तो बंदूक नहि फोड़ रहे है? अगर हाँ तो फिर उसका भाड़ा डबल करना पड़ेगा।

Science?

  • Corona= China lab virus? US president Joe Biden has ordered FBI/CIA to investigate the origin of coronavirus / that it was developed in a military lab of a country (=China). India has also supported the call demanding “world health organization (WHO) investigate this and all the countries (=esp China) must cooperate to it” अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपनी जासूसी संस्थाओं को आदेश दिया है कि पता लगाइए कोरोना वायरस का जन्म कैसे हुआ था भारत सरकार ने भी विश्व स्वास्थ्य संगठन में कुछ ऐसी ही माँग पेश की है कि इसकी गंभीर रूप से जाँच की जाए और सभी देश उसमें सहयोग दे।
  • Stem cell research = it can help curing genetical disease cancer et cetera but requires studying human embryos & usually such embryos get destroyed in the testing process. but some activists are opposed that human embryos have the moral / legal status of persons and Life must be protected. Embryos should not be used for research. Previously, INTERNATIONAL Society for Stem Cell Research (ISSCR) prohibited use of embryos older than 14 days in lab research. 2021- they have removed this time limit. So even older embryos can be used for research. स्टेम सेल रिसर्च संशोधन से कैंसर तथा विविध जनीनिक बीमारियों का भविष्य में उपचार हो सकता है किन्तु यहाँ भ्रूण पर विविध प्रयोग संशोधन किए जाते हैं, जिसमें सामान्य रूप से वो भ्रूण ख़त्म हो जाता है। कुछ लोग विरोध करते हैं कि भ्रूण भी एक इंसान है इसलिए उस पर कोई परीक्षण नहीं होना चाहिए/ की जान नहीं लेनी चाहिए। स्टेम सेल संशोधन की अंतरराष्ट्रीय संस्था ने पहले तो 14 दिनों से ज़्यादा उम्र के भ्रूण पर इस प्रकार के प्रयोगों की पाबंदी लगायी थी हालाँकि अब वो पाबंदी हटा दी है

Ethics GSM4☯️

  • Sports Ethics= Brazilian soccer superstar Neymar a) previously accused of raping a model b) Now, Nike Company dropped him from advertisements because of Neymar allegedly tried to rape/sexually assult a Nike employee, and he is not cooperating in the investigation. Separately, Indian Olympian Wrestler Sushil Kumar arrested for murder. Points to consider? 1) Sports credentials are not certificates for good character. 2) Sports coaches managed to develop medal winning athletes, but failed to inculcate moral / ethical values in them. 3) Culture of Hero-worshipping sportsmen/ movie star / rockstars irrespective of their crimes against humans and animals, tax evasions, etc. ब्राज़ील के फ़ुटबॉल खिलाड़ी नेमार पर बलात्कार / यौन हिंसा के आरोप लगे। नाईकी कंपनीने भी विज्ञापन समझौता किया रद्द । इधर भारत में भी पहलवान सुशील कुमार हत्या के आरोप में हुए गिरफ़्तार। यानी कि खेल कूद में मिले मेडल किसी व्यक्ति के चरित्र की उपाधि नहीं है। खेलकूद प्रशिक्षक अच्छी तालीम देकर व्यक्ति को मेडल जीतना तो सिखा पाईं लेकिन उसके चरित्र में नैतिकता का सिंचन करने में विफल रहे। लोगों में भी खिलाड़ी और फ़िल्म अभिनेता को भगवान की तरह पूँजने की भावना-बड़े वे किसी भी प्रकार के अपराध में लिप्त हो।
  • AI-dangers / racial stereotyping– 1) Facebook artificial intelligence algorithm deleted the historic cultural photographs of Papua New Guinea people, citing ‘Nudity’ – even the photos were the males were performing religious rituals without shirt were flagged /deleted as nudity. However Facebook does not delete the photographs of celebrities without shirts/ scantily clad/minimal clothes. 2) 2021 Facebook and Instagram accused of deleting pro-Palestine Photos and posts even though there was no evidence of incitement to violence. Lesson? We can’t rely 100% on technology for governance. फ़ेसबुक के कृत्रिम बुद्धिमत्ता/ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अलगोरिदम द्वारा न्यू गिनी के कुछ ऐतिहासिक सांस्कृतिक चित्रों को अश्लीलता/ नग्नता आरोप में हटाया गया. हालाँकि उसमें कुछ पुरुष केवल बिना कमीज़ के कुछ धार्मिक विधि कर रहे थे. इसी प्रकार फिलीस्तीन समर्थक फोटोग्राफ्स और लेख, इनमें हालाँकि हिंसा का समर्थन नहीं किया गया था, फिर भी फ़ेसबुक द्वारा उन्हें हटाया गया। इन सब से सबक़ ये मिलता है कि प्रशासन में हम संपूर्ण तरह विज्ञान प्रौद्योगिकी और कंप्यूटर कृत्रिम बुद्धिमत्ता के सहारे नहीं रह सकते.
  • Quote- Writing laws is easy, but governing is difficult. — Leo Tolstoy. क़ानून लिखना तो आसान है लेकिन शासन करना मुश्किल- लियो टॉलस्टॉय
  • Education / role of teacher- Blended teaching- University Grants Commission has proposed to the universities to encourage “blended teaching” – start teaching 30% courses online → then increase it up to 70%! Anti arguments 1) Top down, celebrity teacher-centric, one-size-fits all and ignores the diversity of students 2) teachers will no longer remain mentors but become knowledge providers. The personal touch to bright students, character development, value inculcation etc. will be harmed. 3) Every society needs teachers. They are not merely knowledge providers and students shd not be turned into ‘consumers’. They do have a responsibility to introduce students to all sources of knowledge. But they are also knowledge creators. 4) Fresher to college and interact with different generations of students and professors, then he learns to think and accept diversity. Thinking does not happen in isolation. 5) Youth from small towns and villages going to college in bigger cities = they get exposed to the more liberal ideas/ practices regarding casteism patriarchy etc. So when the return back to their home towns they can help reforming the society. This is difficult in the online method. 5) universities also serve as training ground for the future political leaders through student political movement. UGC ने प्रस्ताव दिया है कि कॉलेजों में 30% अभ्यास क्रम ऑनलाइन ज़रिये से पढ़ाया जाए और भविष्य में इस प्रतिशत को और बढ़ाते बढ़ाते 70% इस अभ्यास क्रम ऑनलाइन ज़रिए ही पढ़ाया जाए। इसके विपक्ष में तर्क/ चुनौतियां/ नुक़सान? अगर प्रत्यक्ष रूबरू मुलाक़ात नहीं होगी, सभी अध्यापक यदि ओनलाइन पढ़ाएँगे तो शिक्षक विद्यार्थियों के मूल्यों का सिंचन अच्छे से नहीं कर पाएगा। कॉलेज यूनिवर्सिटी में बच्चे अन्य धर्म समुदाय और उम्र के लोगों से घुलते मिलते हैं तो उन्हें बंधुत्व और सहिष्णुता की भावना बढ़ती है। छोटी गाँव शहर से बड़ी यूनिवर्सिटी में जब कुछ विद्यार्थी पढ़ते हैं दुनिया देखते हैं तो उन्हें मालूम होता है कि उनके छोटे गाँव शहर में जो जातिवाद और पितृ सत्तात्मक रवैया है वो ग़लत है। सब ऐसी सीख लेकर अपने वतन वापस जाएँ तो समाज सुधार हो सकता है।

PIN-GK?️

  • Arthur Muir, 75, became the oldest American to climb Mount Everest.

Download Current Affairs Excel File?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *